Love Shayari || Yeh Kya Mujhe Hua Hai || Wish This Year



Bhul Jata Hu Main SabKuchh Aapke Siwa, Ye Kya Mujhe Hua Hai,
Kya Isi Ehsaas Ko Duniya Ne Ishq Ka Naam Diya Hai.
भूल जाता हूँ मैं सबकुछ आपके सिवा, यह क्या मुझे हुआ है,
क्या इसी एहसास को दुनिया ने इश्क़ का नाम दिया है।



Hame To Kabool Hai Har Dard Har Takleef Teri Chahat Mein,
Bas Itna Bata De, Kya Tujhe Bhi Meri Mohabbat Kabool Hai?
हमें तो कबूल है हर दर्द... हर तकलीफ़ तेरी चाहत में,
बस इतना बता दे क्या तुझे मेरी मोहब्बत क़बूल है?



Shikayat Nahi Hai Raat Se Bs Tumhi Se Kuch Kahna Hai,
Bas Tum Thoda Thahar Jao Raat Kab Thaharati Hai.
शिकायत नहीं है रात से बस तुम्ही से कुछ कहना है,
बस तुम थोड़ा ठहर जाओ रात कब ठहरती है।



Apane Ishq Mein Kar De Madahosh Is Tarah,
Ki Hosh Bhee Aane Se Pahale Izaazat Maange.
अपने इश्क़ में कर दे मदहोश इस तरह,
कि होश भी आने से पहले इज़ाज़त माँगे।



Ishq Ka Koi Rang Nahin Phir Bhi Vo Rangeen Hai,
Mohabbat Ka Koi Chehra Nahin Phir Bhi wo Haseen Hai.
इश्क का कोई रंग नहीं फिर भी वो रंगीन है,
मोहब्बत का कोई चेहरा नहीं फिर भी वो हसीन है।



Ai Sanam... Hogi Kitni Chaahat Us Dil Mein,
Jo Khud Hi Maan Jaaye Kuch Pal Khafa Hone Ke Baad.
ऐ सनम... होगी कितनी चाहत उस दिल में,
जो खुद ही मान जाये कुछ पल खफा होने के बाद।



Mat Dekho Hamen... Tum Is Kadar,
Ishq Tum Kar Baithoge Aur Ilazaam Hampar Aayega.
मत देखो हमें... तुम इस कदर,
इश्क़ तुम कर बैठोगे और इलज़ाम हमपर आयेगा।

Love Shayari || Yeh Kya Mujhe Hua Hai || Wish This Year Love Shayari || Yeh Kya Mujhe Hua Hai || Wish This Year Reviewed by Abhishek Roy on September 30, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.