Yaad Shayari || Unki Yaad Aati Hai



Kabhi Unki Yaad Aati Hai Kabhi Unake Khwaab Aate Hain,
Mujhe Satane Ke Saleeke... To Unhen Behisaab Aate Hain.
कभी उनकी याद आती है कभी उनके ख्व़ाब आते हैं,
मुझे सताने के सलीके... तो उन्हें बेहिसाब आते हैं…



Bahat Hi Yaad Aata Hai Mere Dil Ko Tarpata Hai,
Wo Tera Paas Na Hona Mujh Ko Bahut Rulata Hai.
बहुत ही याद आता है मेरे दिल को तड़पाता है,
वो तेरा पास न होना मुझ को बहुत रुलाता है।



Sanso Me Teri Khushbu Hai, Dil Me Tu Dhadakti Hai,
Kaise Batau Tujhko Main, Tu Kitna Yaad Aati Hai.
साँसों में तेरी खुशबु है, दिल में तू धड़कती है,
कैसे बताऊ तुझको मैं, तू कितना याद आती है।



Wo Jo Guzarti Hai Hawaon Ki Tarah, Yaad Hai Teri,
Wo Jo Behti Hai Nadi Ki Tarah, Fariyad Hai Meri.
वो जो गुज़रती है हवाओं की तरह, याद है तेरी,
वो जो बहती है नदी की तरह, फरियाद है मेरी।



Phir Uski Yaad, Phir Uski Aas, Phir Uski Baatein,
Ae Dil Lagta Hai Tujhe Tadpne Ka Bahut Shauk Hai.
फिर उसकी याद, फिर उसकी आस, फिर उसकी बातें,
ऐ दिल लगता है तुझे तड़पने का बहुत शौक है।

Yaad Shayari || Unki Yaad Aati Hai Yaad Shayari || Unki Yaad Aati Hai Reviewed by Abhishek Roy on September 19, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.