Yaad Shayari || Teri Yaad Neend Chura Leti Hai



Tu Dekh Sakta Kash Rat Ke Pahre Me Mujhko,
Kitni Bedardi Se Teri Yaad Meri Neend Chura Leti Hai.
तू देख सकता काश रात के पहरे में मुझको,
कितनी बेदर्दी से तेरी याद मेरी नींद चुरा लेती है।

Bada Tadpati Hain Ye Raaten, Dil Bebas Hai Kisi Ki Yaadon Mein,
Ab To Nikal Aa Ai Din, Phir Zindagi Ki Shaam Bhi Honi Hai.
बड़ा तडपाती हैं ये रातें, दिल बेबस है किसी की यादों में,
अब तो निकल आ ऐ दिन,फिर ज़िंदगी की शाम भी होनी है।


Badi Katil Hain Ye Aankhen, Raat Ko Jagna Chhod De,Khud Ba Khud Neend Aa Jaayegi, Tu Mujhko Sochna Chhod De. 
बहुत कातिल हैं ये आँखें, रात को जागना छोड़ दे,
खुद-ब-खुद नींद आ जायेगी, तू मुझको सोचना छोड़ दे।

Neend To Aane Ko Thi, Par Dil Pichhle Qisse Le Baitha,
Wahi Tanhayi, Wahi Aawargi, Wahi Uski Yaaden.
नींद तो आने को थी, पर दिल पिछले क़िस्से ले बैठा,
वही तन्हाई, वही आवारगी, वही उसकी यादें।

Khaamosh Rahte Hain Jab Tum Yaad Aate Ho,
Jo Hui Khabar Aankhon Ko To Baras Jaengee.
खामोश रहते हैं जब तुम याद आते हो,
जो हुई खबर आँखों को तो बरस जाएंगी।


Bahut Nayab Hote Hain Jinhen Hum Yaad Krte Hain.
Lo Tmko Bhi Diya Moqa, Ke Tm Anmol Ho Jao.
बहुत नयाब होते हैं जिन्हें हम याद करते हैं,
लो तमको भी दिया मौका, के तुम अनमोल हो जाओ।

Yaad Shayari || Teri Yaad Neend Chura Leti Hai Yaad Shayari || Teri Yaad Neend Chura Leti Hai Reviewed by Abhishek Roy on September 19, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.