Mere Hontho Par Lafz Bhi || Wish This Year


Mere Hontho Par Lafz Bhi Ab Teri Talab Leke Aate Hain,
Tere Jikr Se Mahkte Hain Tere Sajde Me Bikahar Jate Hain.
मेरे होंठो पर लफ्ज़ भी अब तेरी तलब लेकर आते हैं,
तेरे जिक्र से महकते हैं तेरे सजदे में बिखर जाते हैं।


Wo Pila Kar Jaam Hontho Se Apni Mohabbat Ka,
Ab Kahte Hain Nashe Ki Adat Achhi Nahi Hoti.
वो पिला कर जाम होंठो से अपनी मोहब्बत का,
अब कहते हैं नशे की आदत अच्छी नहीं होती।


Wo Surkh Lab Aur Un Par Jalim Angdaiyan,
Tu Hi Bata Ye Dil Marta Na To Karta Kya .
वो सुर्ख लब और उनपर जालिम अंगडाईयां,
तू ही बता ये दिल मरता ना तो क्या करता।


Baithe Raho Saamne Dil Ko Qaraar Aayega,
Jitnaa Dekhenge Tumhe Utnaa Hi Pyar Aayega.
बैठे रहो सामने दिल को करार आयेगा,
जितना देखेंगे तुम्हे उतना ही प्यार आयेगा।


Chahat Itni Rakho Ki Jee Sabhal Jaye, Ab
Is Kadar Bhi Na Chaaho Ki Dam Nikal Jaaye.
चाहत इतनी रखो की जी सभल जाए , अब
इस कदर भी ना चाहो कि दम निकल जाये।


Door Hokar Bhi Jo Shakhs Samaya Hai Meri Rooh Mein,
Paas Vaalon Par Vo Kitna Asar Rakhta Hoga.
दूर होकर भी जो शख्स समाया है मेरी रूह में,
पास वालों पर वो कितना असर रखता होगा।
Mere Hontho Par Lafz Bhi || Wish This Year Mere Hontho Par Lafz Bhi || Wish This Year Reviewed by Abhishek Roy on September 18, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.